अपने आप में हमेशा कैसे खुश रहें- 15 आसान टिप्स

how to be happy single with yourself always in hindi

हम सबकी खुशी की अपनी-अपनी परिभाषा है। आपके जीवन में क्या चुनौतियाँ चल रही हैं, जीवनशैली कैसे बदल रही है, लेकिन दिन के अंत में आप कितने खुश हैं, यह सबसे ज्यादा मायने रखता है। आपकी खुशी वास्तव में सबसे महत्वपूर्ण चीज है।

ऐसी स्थिति में, चाहे आप किसी रिलेशनशीप में हों, बूढ़े या बच्चे हों, व्यस्त जीवन, अच्छा या बुरा समय हो, खुद के साथ हमेशा खुश रहना मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य के लिए सबसे महत्वपूर्ण है। इस संबंध में, महान रोमन सम्राट मार्कस ऑरेलियस ने कहा है –

“Very little is needed to make a happy life; it is all within yourself, in your way of thinking.”

अर्थात खुशहाल जीवन के लिए बहुत कम की जरूरत होती है; यह सब आपके भीतर है, आपके सोचने के तरीके में।

दोस्तों और प्रियजनों के साथ होना सबसे अच्छी बात है, लेकिन खुद को जानना भी बहुत महत्वपूर्ण है। जब आप अकेले अपने घर से बाहर यात्रा करते हैं या बाहर निकलते हैं, तो दूसरों का कोई सहारा नहीं होता है। आप खुद, अपनी ताकत और अपनी कमजोरियों को जानते हैं। आप मजबूत और बहादुर बनना सीखते हैं, और बुरी परिस्थितियों में भी मजबूत कैसे बने रहें, और हर समस्या का समाधान कैसे खोजें, यह भी सीखते हैं।

अपने जीवन में प्यारे दोस्तों के साथ पलों का आनंद लेना आपके लिए सबसे अच्छा सुखद अनुभव हो सकता है लेकिन अकेले रहना भी आपके जीवन का सबसे ख़ुशी का क्षण हो सकता है।

Table of Contents

अपने आप मे खुश रहना क्यों महत्वपूर्ण  है ?

घर दूर रहने का कारण जॉब, कैरियर, या और कुछ भी हो सकता है। घर से दूर किसी अनजान शहर में अकेले रहना बहुत मुश्किल होता है। इस दौरान, आपको निश्चित रूप से अकेलेपन की शिकायत हो सकती है।

आपकी हंसी और रोना सभी आपके प्रियजनों के साथ साझा किया जाता है। लेकिन जब आप अकेले होते हैं, तो आपके लिए यह बहुत महत्वपूर्ण हो जाता है कि अकेले रहने पर भी अपने आप से खुश कैसे रहें। तो चलिए चर्चा करते हैं कि स्वास्थ्य और जीवनशैली विशेषज्ञों द्वारा बताए गए अनुभवों के आधार पर अपने आप से हमेशा कैसे खुश रहें: –

हमेशा अपने आप में खुद के साथ खुश कैसे रहें –

अपने आप को समझें –

सबसे पहले, आपको खुद को समझना होगा। आप एक मूल्यवान व्यक्ति हैं और इसे सच होने के लिए आपको किसी और के द्वारा एहसास दिलाने की आवश्यकता नहीं है। जब आप अकेले होते हैं, तो अपने आप को याद दिलाएं कि आप ऐसा चाहते हैं। यह वास्तव में एक विकल्प है।

प्रत्येक व्यक्ति के पास अपनी एक आंतरिक आवाज होती है जो सभी दिनों के सभी घंटों में उनसे बात करती है। तो आप अपने आप से बात करें, जब कोई और न हो। इस संबंध में अमेरिकी संगीतकार सियारा ने कहा है-

“If you are embracing who you are and accept who you are, you are able to live a happy life.”

अर्थात यदि आप समझते हैं कि आप कौन हैं और स्वीकार करते हैं कि आप कौन हैं, तब आप एक खुशहाल जीवन जीने में सक्षम हो जाते हैं। 

समझें कि वास्तव मे क्या चीजें खुशी देती हैं – 

अकेले रहने से आपको यह पता लगाने का बहुत अच्छा मौका मिलता है कि वास्तव में क्या चीजें आपको खुश करता है और आपको खुद को बेहतर तरीके से जानने का पूरा मौका देता है। अकेला रहना आपको समय और स्वतंत्रता देता है। अब आप जो भी करना चाहें कर सकते हैं।

जिन चीज़ों को दूसरे के कारण करने के लिए आपको समय नहीं मिला, यह वह समय है जब आप उन सभी चीजों को कर सकते हैं। इससे आप अकेले होने के साथ खुश महसूस करेंगे। इस प्रक्रिया में, आपको उन चीजों पर ध्यान देना चाहिए जो आपको अधिक और लंबे समय तक खुशी देती हैं। इस सिलसिले में टॉक बैक होस्ट और सोशल कमेंटेटर डीन मैकिन ने कहा है –

“When feeling happy, considering waste time wondering how to use it, do the first thing that comes to your mind and enjoy it.” 

उन चीजों की एक सूची बनाएं जो आपको खुद से खुश करती हैं –

जीवन में कैसे खुश रहें अकेले अपने आप के साथ हमेशा। यहां आपको उन चीजों की एक सूची बनाने की आवश्यकता है जो आपको खुश करती हैं। आपको ऐसी गतिविधियों पर ध्यान देना चाहिए जो आपको अच्छा और प्रेरित महसूस कराएं और खुद को एक नई शुरुआत दें। व्यक्ति को उन चीजों को करना शुरू करना चाहिए जो आपको उदाहरण के लिए खुश करते हैं। गतिविधियों का जिक्र करना शुरू करें। लिखने के दौरान आप उत्साहित होंगे और उत्साह आपको प्रेरित और खुश करेगा।

खुद से प्यार करें और खुशियाँ बांटें –

how to be happy single with yourself always in hindi

हम दूसरों से प्यार करते हैं लेकिन इस सब में हम खुद से प्यार करना भूल जाते हैं। आपको खुद को उपरोक्त सूची में रखना चाहिए। अपने आप को प्यार करना, वास्तव में ऐसी स्थिति है जो इन क्रियाओं से बढ़ जाती है जो हमारे शारीरिक, आध्यात्मिक और मानसिक विकास को बढ़ावा देती हैं।

जब आप अपनी खुशी के लिए किसी और की प्रशंसा पर निर्भर नहीं होते हैं और समय-समय पर खुद को एक पूरक देते हैं, तो आप वास्तव में आत्म-प्रेम को समझते हैं। खुद से एक बात कहें और तय करें कि मेरी खुशी मेरे हाथ में है।

आपने यह भी सुना होगा कि खुशियां बांटने से बढ़ती हैं। इसलिए अगर आप भी हमेशा खुश रहना चाहते हैं तो आज से ही खुशियां बांटना शुरू कर दें। लोगों को उनके जीवन में खुशियों के रंग भरने में मदद करें। इससे आपको न केवल अंदर से खुशी मिलेगी, इसके साथ ही आपको लोगों और भगवान का आशीर्वाद भी मिलेगा। याद रखें, आप दुनिया को जो देते हैं वह दोगुना होकर आपको वापस मिलता है।

खुद के साथ खुश रहने के लिए खुद की देखभाल करें –

मनुष्य भौतिक सुखों के लिए संसाधन जुटाने में इतना व्यस्त हो गया है कि वह खुद की देखभाल करना भूल गया है। खाने और सोने का कोई समय ही नहीं है।  बस हर घड़ी पैसा, पैसा और पैसा।

संबंधित लेख – रात को अच्छी और सुकून भरी नींद कैसे लें

एक आदमी पहले पैसे कमाने के लिए अपने स्वास्थ्य को खराब करता है और फिर उसी स्वास्थ्य को वापस पाने के लिए अपने पैसे खो देता है। इस तरह, एक आदमी अपने स्वास्थ्य, धन, और खुशी सभी को खो देता है।

इसलिए, पैसा कमाने के साथ-साथ अपना ध्यान रखना जरूरी है। इसीलिए कहा गया हैं – “स्वास्थ्य ही पूंजी है”  जीवन में खुश रहने के लिए स्वस्थ रहना सबसे जरूरी है।

यह भी पढ़ें- हमेशा स्वस्थ रहने के सर्वोत्तम प्राकृतिक तरीके

एक स्वस्थ जीवन शैली का निर्माण करें –

how to be happy single with yourself always in hindi

जब हमारा शरीर स्वस्थ रहेगा तो हमारा दिमाग स्वस्थ रहेगा। जब आप अपने दिमाग को खुश रखने के लिए अपने शरीर को स्वस्थ रखते हैं तो आपके शरीर में सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है। एक व्यायाम कार्यक्रम बनाएं जो आपके शरीर को स्वस्थ आकार में लाने में मदद करे। इससे आपको अपने शरीर के बारे में अच्छा महसूस होगा। इसके लिए, आप ज़ुम्बा क्लास, योगा, एरोबिक, लाफ्टर क्लास आदि से जुड़ सकते हैं। यह आपके अंदर आत्मविश्वास जगाएगा। आप खुद महसूस कर पाएंगे कि खुद के साथ खुश रहना क्यों जरूरी है।

यह भी पढ़े-  हँसने के अद्भुत स्वास्थ्य लाभ

अभ्यास, ध्यान, अध्ययन, ज्ञान प्राप्त करें, एक स्वस्थ दिनचर्या बनाएं। पढ़ना, अभ्यास करना, और ध्यान लगाना एक ऐसी चीज है, जो आपके अकेले समय की जरूरत है। यह आपको स्वस्थ और प्रेरित रखता है। यह स्वस्थ जीवनशैली ही आपको स्वस्थ और शांत रखती है। कभी भी दुखी, क्रोधित, या निराश होकर अपना समय अकेले न निकालें।

अध्ययन बताते हैं कि व्यायाम से शरीर में एंडोर्फिन हार्मोन निकलता है। यह आपके मस्तिष्क में न्यूरोट्रांसमीटर को छोड़ने में मदद करता है जो आपको खुश महसूस कर सकता है। व्यायाम से आपके शरीर में ऊर्जा आती है और आप दिन भर तरोताजा महसूस करते हैं। इस तरह, आप सभी काम बहुत आसानी से पूरा कर सकते हैं।

खुद के साथ खुश रहने के लिए अपना दायरा बढ़ाएँ –

ज्यादा से ज्यादा ऐसे काम करने की कोशिश करें जो आपने पहले कभी नहीं किए। कोशिश करें कि आप पर कोई प्रतिबंध न हो और सभी संभावनाओं के लिए खुला रहें। अपने दायरे से बाहर निकलने का एक शानदार तरीका यह है कि हर हफ्ते कहीं न कहीं कुछ नया और मजेदार किया जाए। उबाऊ व्यक्ति जैसी कोई चीज नहीं होनी चाहिए। आपका ध्यान न देना आपकी उबाऊ स्थिति का कारण है। कुछ नया करने की कोशिश करते रहें। अगर आप वास्तव में खुद से खुश रहना चाहते हैं, तो इससे आपको मदद मिलेगी।

हमेशा खुश रहने के लिए अपने समय का सही उपयोग करें –

how to be happy single with yourself always in hindi

अपने समय का बुद्धिमानी से उपयोग करें और सुनिश्चित करें कि आपने दिन के अंत तक जो कुछ भी किया है वह आपके लिए खुशी और संतुष्टि लाता है। जब आप अपने काम में खुद को पूरी तरह से खो देते हैं तो आप जो बनाते हैं उस पर आपको गर्व होगा और यह आपको संतुष्ट और खुश करेगा।

अपने आप से खुश रहने का मतलब यह नहीं है कि आप खुद को दुनिया से अलग कर लें। इसका मतलब है कि आप लोगों से घिरे बिना भी खुश रह सकते हैं।

अपने आप को खुश करने के लिए अपने जुनून पर काम करें-

यह कुछ ऐसा होना चाहिए जो आप हमेशा खुद से खुश रहने के लिए करना चाहते हों। अभी क्यों नहीं आजमाया? जब आप अकेले होते हैं, तो आपकी योजना को बिगाड़ने के लिए पास में कोई नहीं होता है। ऐसे में खुद को चुनौती दें। चाहे वह कोई भी हो। आपको बस यह सोचना है कि आप इस चीज को लेकर हमेशा उत्साहित थे।

यदि आप जानवरों से प्यार करते हैं तो ऐसे जगह पर जाएँ, और सोचें कि आप सभी स्थानीय जानवरों के लिए क्या कर सकते हैं। इससे आपको अच्छा महसूस होगा और आप खुश रहेंगे। अगर आपको डांस करना पसंद है तो डांस करें। अगर आपको फोटोग्राफी का शौक है तो फोटोग्राफी करें। किसी एक कार्य में स्वयं को न फँसाएँ।

मनोरंजन भी महत्वपूर्ण है –

जीवन एक यात्रा है और उस यात्रा में चलते समय, कभी-कभी व्यक्ति ऊब जाता है, इसलिए दैनिक दिनचर्या से बाहर निकलना और कभी-कभी मनोरंजन करना बुरा नहीं है। जब भी आप जीवन में नीरसता महसूस करें, समझ लें कि आपके दिमाग को रंग की जरूरत है। फिर अपने सभी काम भूल जाते हैं और कुछ मनोरंजन करते हैं। अपने पसंदीदा संगीत को सुनें, फिल्म देखें, प्रकृति के साथ समय बिताएँ, या कोई शौक पूरा करें।

दूसरों से तुलना न करें और खुद की तारीफ करें –

यह कहना बहुत आसान है, लेकिन करना बहुत मुश्किल है। कभी भी किसी से अपनी तुलना न करें, क्योंकि इससे आपका आत्मविश्वास कमजोर होता है। हमें हमेशा यह ध्यान रखना चाहिए कि हर इंसान का दिमाग अलग है और उसे अपनी प्रतिभा के अनुसार अपना काम करना चाहिए। ईश्वर ने सभी मनुष्यों को कुछ न कुछ प्रतिभा दी है। प्रत्येक मानव को अपनी प्रतिभा को पहचानना चाहिए और उसमें आत्मविश्वास के साथ आगे बढ़ना चाहिए।

जब आप अपने अकेले समय में होते हैं, तो खुद की प्रशंसा करें, अकेले रहने का आनंद लें, खुद के लिए खुद की सराहना करें, खुद की प्रशंसा आपको खुद पर विश्वास दिलाती है, आत्म-स्वीकृति आपको आत्म-सम्मान से जोड़ती है, आत्म-प्रशंसा आपको बताती है कि यह दुनिया नहीं है या ऐसे लोग जो आपको खुश करते हैं, लेकिन यह आप और आपकी इच्छा और विश्वास है जो आपको खुश करते हैं, आपके भीतर खुशी लाते हैं।

खुशी बाहरी दुनिया से नहीं आती है, आप किसी भी समय किसी भी स्थिति में अपने आप से हमेशा खुश रह सकते हैं, चाहे आप अकेले हों या नहीं, खुशी आपके और आपकी सोच के ऊपर है।

खुद से खुश रहने के लिए अपने सेल फोन के उपयोग को सीमित करें –

आज के युग में, सेल फोन का उपयोग इतना बढ़ गया है कि किसी भी व्यक्ति के लिए खुद के लिए समय निकालना मुश्किल है। वह किसी भी तरह फोन में इतना व्यस्त है कि वह आराम के दो पल नहीं ले सकता है। यह आज के युग की सबसे बड़ी समस्या है कि लोग अपने लिए दो पल की शांति नहीं ले पा रहे हैं।

यह हमारी मानसिक और शारीरिक समस्याओं का मुख्य कारण है। फोन एक ऐसा उपकरण है जो आपकी जटिलताओं को हर मायने में बढ़ाता है।

खुद के साथ डेट पर जाएँ –

how to be happy single with yourself always in hindi

आज की भाग-दौड़ भरी ज़िन्दगी में अपने लिए समय निकालना ऐसा हो गया है जैसे- दांतों तले चने चबाना । सभी को अपने लिए क्वालिटी टाइम लेना चाहिए और जीवन में खुश रहना चाहिए। सेल्फ डेट पर जाएं और खुद से खुश रहना सीखें।

अकेले रहने से आप जान पाएंगे कि आपके जीवन का महत्व क्या है, आपके जीवन का अर्थ क्या है और आप अपने लिए क्या चाहते हैं। यदि आपको यह समझने में कठिनाई हो रही है तो आप कहीं एक डेट पर जाएँ, जो आपको खुश करता है। वह कौन सी जगह है जहाँ आप खुद को ले जा सकते हैं और क्या आप असीमित आनंद महसूस करते हैं?

बुरी यादों को भूलना और खूबसूरत पलों को याद करना सीखें –

अच्छी और बुरी यादें हर इंसान के जीवन से जुड़ी होती हैं। मनुष्य का स्वभाव है कि वह अच्छी यादों को भूल जाता है, लेकिन अतीत की बुरी यादों को नहीं भूल सकता जो उसके दुख का कारण बनती है। लोग अपने प्रियजनों से अलगाव, किसी के द्वारा किए गए बुरे व्यवहार, अतीत में बुरे समय या उनके साथ किए गए धोखे को याद करते हैं।

जबकि, हमें यह समझना चाहिए कि जो बीत चुका है, वह बीत चुका है। अब बार-बार याद करने से कोई लाभ नहीं है, इसलिए जो बीत गया उसे ईश्वर की इच्छा के रूप में स्वीकार किया जाना चाहिए।

जब भी आपका मन जीवन में उदास हो, तो अपने अतीत के खूबसूरत पलों को याद करें। बचपन के मज़ाक की तरह, दोस्तों के साथ मस्ती, किसी के साथ बिताए ख़ूबसूरत पल, या किसी फ़िल्म के मनोरंजक दृश्य आदि। आपके उदास चेहरे पर मुस्कान ज़रूर आएगी।

हमेशा खुश रहने के लिए अपने दिल की सुनें –

how to be happy single with yourself always in hindi

आज के प्रतिस्पर्धी युग में, लोगों ने अपने दिलों की आवाज़ कहीं खो दी है। आजकल ज्यादातर लोग मजबूरी में कुछ काम कर रहे हैं क्योंकि उन्हें उस काम से पैसा मिलता है। दरअसल, समझौता हमारे जीवन का एक महत्वपूर्ण हिस्सा बन गया है।

याद रखें आप अपना जीवन अच्छे से बिता सकते हैं। जीवन में कोई भी निर्णय लेने से पहले अपने दिल की आवाज जरूर सुनें। अन्यथा, आप चाहे कितने भी सफल हों, आपको अपने अंदर से खुशी नहीं मिलेगी।

किसी से कुछ भी उम्मीद नहीं करें तो अच्छा रहेगा – 

यदि आप जीवन में हमेशा खुद के साथ खुश रहना चाहते हैं, तो दूसरों से अपेक्षा करना छोड़ दें क्योंकि हर बार आपकी अपेक्षाएं पूरी नहीं हो सकती हैं और जब उम्मीदें टूटती हैं, तो क्रोध, घृणा, ईर्ष्या, दुःख और अविश्वास का माहौल पैदा होता है, जो आपके जीवन को दुख और निराशा में बदल देता है। इसलिए लोगों से उम्मीद करना छोड़ दें और खुद पर विश्वास करें।

अनदेखी करना सीखें –

दुनिया में हर तरह के लोग रहते हैं, अच्छा और बुरा दोनों। अच्छे लोग खुशी देते हैं और बुरे लोग आपको अनुभव कराते हैं। कुछ लोग ऐसे होते हैं, यहां तक ​​कि सभी से बात करना और निंदा करना भी। दरअसल, ये लोग मानसिक विकारों के शिकार हैं। वे चाहते हैं कि कोई और खुश न हो क्योंकि वे खुश नहीं हैं, इसलिए वे हर समय नकारात्मक बातें करते रहते हैं। ऐसे लोगों से उलझने के बजाय उनकी उपेक्षा की जानी चाहिए।

सकारात्मक रहें और लोगों में अच्छाई खोजें-

हर समय हर किसी में बुराई खोजने के बजाय, लोगों में अच्छाई खोजें क्योंकि हर बार हर इंसान उतना बुरा नहीं होता जितना हम सोचते हैं। समय या स्थिति के कारण, हम किसी भी इंसान के बारे में बुरा महसूस करते हैं, लेकिन यह भी हो सकता है कि जो व्यक्ति आज आपको बुरा महसूस कर रहा है, वह कल आपको पसंद करने लगे। जब किसी में बुराई की तलाश करते हैं, तो याद रखें कि बुराइयां आप में निहित हैं। तो जैसे की आप अपनी गलती को माफ़ करते है।

संबंधित पोस्ट- जीवन में आसानी से सकारात्मक कैसे रहें

इसी तरह, दूसरों की गलती पर गौर कीजिए और उन्हें माफ कीजिए। यदि किसी व्यक्ति में कुछ बुराई है, तो कुछ अच्छा भी है, इसलिए लोगों में बुराई  खोजने से बेहतर है कि लोगों में अच्छाई ढूंढी जाए। तभी आप हमेशा खुश रह पाएंगे। उन लोगों पर ध्यान न दें जो आपको परेशान करते हैं, उनके साथ समय बिताएं जो आपको खुश करेंगे। महान कलाकार गिरिधर अलवर ने कहा है –

“Change is needed, not to impress others. But to love and respect yourself more than anyone can for your being.”

अर्थात- बदलाव की जरूरत दूसरों को प्रभावित करने के लिए नहीं होती है, बल्कि अपने आप से अधिक प्यार और सम्मान के लिए, जितना दूसरे आपसे कर सकते हैं। 

निष्कर्ष –

तो दोस्तों, उपरोक्त विवेचना से स्पष्ट हो गया है कि खुशी कहीं बाहर से नहीं आती है, यह हमारे ऊपर ही निर्भर करता है कि हम अपनी विभिन्न परिस्थियों को कैसे डील करते हैं और अपने आप मे कैसे खुश रहते हैं। यह जानकारी कैसी लगी, कृपया कमेन्ट करके जरूर बताएं और शेयर जरूर करें ताकि दूसरों को भी इसका फायदा मिल सके।

Leave a Comment