उच्च रक्तचाप को प्राकृतिक रूप से कम करने के लिए भोजन, जीवन शैली मे जरूरी बदलाव और घरेलू उपाय

lower high blood pressure naturally food home remedies in hindi

वर्तमान समय मे उच्च रक्तचाप एक आम बीमारी हो गई है, जो आधुनिक जीवनशैली और आज की भाग-दौड़ भरी जिंदगी का परिणाम है। हालांकि कई मामलों मे यह आनुवंशिक भी होता है। इसे हाइपरटेंशन के नाम से भी जाना जाता है। इस बीमारी को साइलेंट किलर की तरह है  क्योंकि ज्यादातर लोग यह नहीं जान पाते हैं कि उन्हें उच्च रक्तचाप की समस्या है। उच्च रक्तचाप के कारण, रक्त परिसंचरण ठीक से नहीं होता है, जिसके कारण उच्च रक्तचाप से पीड़ित लोग अन्य बीमारियों की चपेट में आ जाते हैं। आजकल उच्च रक्तचाप जीवन को खतरे में डाल रहा है। अगर एक बार ऐसा हो जाता है, तो लोगों को जीवन भर उच्च रक्तचाप को नियंत्रित करने के लिए दवाइयां लेनी पड़ती हैं, लेकिन जीवनशैली मे उचित बदलाव और भोजन कि अच्छी आदतों से इस बीमारी से छुटकारा मिल सकता है। उच्च रक्तचाप के रोगियों को अपनी जीवनशैली और भोजन की आदतों का अधिक ध्यान रखना चाहिए क्योंकि उच्च रक्तचाप के रोगियों को दिल के दौरे, गुर्दे की समस्याओं और शरीर के अन्य अंगों पर बुरा प्रभाव पड़ने का खतरा हो सकता है। तो आइए हम अपनी जीवन शैली और भोजन की आदतों को बदलकर स्वाभाविक रूप से उच्च रक्तचाप को कम करने के बारे में चर्चा करें।

Table of Contents

उच्च रक्तचाप क्या है –

आम तौर पर, यह दबाव 120 होता है, जिसे ऊपरी दबाव या सिस्टोलिक कहा जाता है। दो बार पंप करने के बीच, दिल को आराम के लिए मिलने वाला समय लगभग आधा सेकंड होता है, इस दौरान धमनियों पर दबाव काफी कम हो जाता है और लगभग 80 हो जाता है, इसे लोअर प्रेशर या डायस्टोलिक कहा जाता है। यह हमारे स्वास्थ्य के लिए महत्वपूर्ण है। इस सीमा के बढ़ने का मतलब है कि दिल पर बोझ पड़  रहा है।

उच्च रक्तचाप के लक्षण क्या हैं?

उच्च रक्तचाप से जुड़ी सबसे खतरनाक बात यह है कि सालों तक प्रभावित रहने के बाद भी यह इसके होने के लक्षण नहीं दिखता है। इस बीमारी का पता लगाने के लिए नियमित स्वास्थ्य जांच होना आवश्यक है। यह कहा जाता है कि यदि ये समस्याएं होती हैं, तो इसे एक लक्षण के रूप में माना जाना चाहिए और तुरंत जाँच की जानी चाहिए: –
• सरदर्द
• थकान
• दृष्टि क्षीणता
• साँस लेने में कठिनाई
• दिल की अनियमित धड़कन
• छाती, गर्दन या कान में फुंसी होना
• छाती में दर्द
• नाक से रक्तस्राव

उच्च रक्तचाप क्यों होता है?

  • मोटापा इसका मुख्य कारण है। 40 इंच से अधिक कमर वाले पुरुषों और 35 इंच से अधिक कमर वाली महिलाओं में उच्च रक्तचाप का खतरा अधिक होता है। इसलिए, यदि आप हृदय रोगों से बचना चाहते हैं, तो वजन को नियंत्रित करें। वजन को नियंत्रित करके और कमर के आकार को कम करके हार्ट अटैक के खतरे को कम किया जा सकता है।
  • अत्यधिक तनाव के कारण कोलेस्ट्रॉल बढ़ता है, जिसके परिणामस्वरूप उच्च रक्तचाप होता है।
  • धूम्रपान और शराब पीने से दिल की सेहत पर भी बुरा असर पड़ता है। शराब का सेवन कम करें और धूम्रपान छोड़ दें। अधिक शराब पीना हृदय के लिए हानिकारक है।
  • जिन लोगों की जीवनशैली शारीरिक रूप से सक्रिय नहीं है, उनमें भी अन्य लोगों की तुलना में हृदय रोग और उच्च रक्तचाप का खतरा अधिक होता है। इसलिए रोजाना व्यायाम करें और संतुलित आहार लें। चाय, एनर्जी ड्रिंक और कैफीन युक्त खाद्य पदार्थ तुरंत ऊर्जा देते हैं, लेकिन रक्तचाप बढ़ने का खतरा होता है। इसलिए संतुलित मात्रा में कैफीन लें।

उच्च रक्तचाप प्राकृतिक रूप से आसानी से कैसे कम करें –

प्राकृतिक रूप से रक्तचाप कम करने के कुछ आसान तरीके यहाँ दिए जा रहे हैं – 

मनोवैज्ञानिक तैयारी –

उच्च रक्तचाप को नियंत्रित करने के लिए, आपको अपने आपसे दृढ़ निश्चय करना चाहिए क्योंकि यह वही है जो आप कर सकते हैं। हालाँकि, आप इसके लिए अपने माता-पिता, दोस्तों, परिवार के सदस्यों या अपने आसपास के लोगों की मदद भी ले सकते हैं। आप उन्हें बताएं कि जब भी आप अपनी जीवनशैली में कुछ गलत करते हैं, जो आपके लिए हानिकारक है, तो वे आपको सतर्क करते करें, जो इस कार्य को सकारात्मक तरीके से करने में आपकी मदद करेगा।

यह भी पढ़ें – जीवन में आसानी से सकारात्मक कैसे रहें

उच्च रक्तचाप को कम करने के लिए शारीरिक व्यायाम अनिवार्य होना चाहिए-

lower high blood pressure naturally food home remedies in hindi

नियमित योग अभ्यास, व्यायाम से न केवल तनाव नियंत्रण में रहता है बल्कि मन भी स्वस्थ रहता है। इसके लिए रोजाना सुबह व्यायाम, योग और ध्यान करें। सुबह जल्दी उठें और कम से कम आधे घंटे की सैर करें। जीवनशैली अच्छी रखें। रोजाना योग और व्यायाम का अभ्यास जारी रखने के लिए, आप इससे संबंधित किसी भी संगठन में शामिल हो सकते हैं या दोस्तों और रिश्तेदारों का एक समूह तैयार करना चाहिए और योग और व्यायाम का एक साथ अभ्यास करें। क्योंकि एक समूह में अभ्यास करने से हमें प्रोत्साहन मिलता है और हमें इसे दैनिक जीवन मे लगातार जारी रख सकते हैं। योग, व्यायाम को लगातार जारी रखने और दैनिक जीवनशैली में लागू करने का यह सबसे अच्छा तरीका है।

योग एक आध्यात्मिक मार्ग है, जो तनाव को कम करके उच्च रक्तचाप को नियंत्रित कर सकता है। शरीर को रोग मुक्त और स्वस्थ बनाए रखने के लिए योग के विभिन्न आसन किए जाते हैं। ब्लड प्रेशर के लिए, शुरू में योग विशेषज्ञ से योग सीख सकते हैं।

उच्च रक्तचाप को कम करने के लिए हंसना (लाफ्टर थेरेपी) फायदेमंद है –

lower high blood pressure naturally food home remedies in hindi

खुलकर हंसने से हमारे शरीर में रक्त संचार सही रहता है। दरअसल, जब हम हंसते हैं, तो हमारे शरीर में बहुत सारी ऑक्सीजन पहुंचती है, जो हृदय की पंपिंग दर को सही रखने में मदद करती है, तनाव कम करता है, प्रतिरक्षा बढ़ाता है और रक्तचाप कम होता है। यह हृदय रोग, दिल का दौरा और स्ट्रोक आदि समस्याओं से बचने में भी मदद करता है। साथ ही, हंसने से आप कई बीमारियों से भी सुरक्षित रहते हैं। शोधों के अनुसार, जो लोग कॉमेडी कार्यक्रम देखते हैं, वे हमेशा दूसरों की तुलना में अधिक खुश रहते हैं। इसके लिए आप किसी भी लाफ्टर क्लब में शामिल हो सकते हैं।

यह भी पढ़ें – हंसने के अद्भुत फायदे और कैसे रह सकते हैं आप बीमारियों से दूर

रक्तचाप कम करने के लिए, पानी के सेवन पर जोर –

पानी का कार्य भोजन को पचाना और शरीर से दूषित पदार्थों को निकालना है। अगर आपने कम पानी पिया है तो यह सही नहीं है और अगर आपने ज्यादा पिया है तो भी सही नहीं है, यानी सही समय पर सही मात्रा में पानी पिएं। पानी तभी पिएं जब आपका शरीर प्यासा हो और आपकी प्यास जितनी हो। पानी पीने से वजन कम करने में मदद मिलती है और यह वजन कम करने का एक प्राकृतिक तरीका है। भोजन से एक घंटे पहले और फिर भोजन के एक घंटे बाद पानी पिएं। इस बीच पानी न पिएं।

उच्च रक्तचाप को कम करने के लिए शरीर के वजन पर नियंत्रण –

वजन बढ़ने से उच्च रक्तचाप हो सकता है। इसलिए, शरीर के वजन को बनाए रखने के लिए, बॉडी मास इंडेक्स को मापना और गणना करना चाहिए। इसके अलावा अपने वजन को नियंत्रण में रखने के लिए आवश्यकतानुसार डॉक्टरी सलाह जरूर लें।

यह भी पढ़ें – आसानी से तेजी से वजन कम करने के प्राकृतिक तरीके

उच्च रक्तचाप को कम करने के लिए धूम्रपान छोड़ें –

lower high blood pressure naturally food home remedies in hindi

उच्च रक्तचाप का एक कारण धूम्रपान भी है। इसलिए, उच्च रक्तचाप की पहचान होने पर धूम्रपान बिल्कुल न करें। अधिक शराब का सेवन करने से उच्च रक्तचाप का खतरा बढ़ जाता है। यदि आप उच्च रक्तचाप के मरीज हैं, तो गलती से भी शराब का सेवन न करें।

ब्लड प्रेशर कम करने के लिए तनाव पर नियंत्रण –

उच्च तनाव, उच्च रक्तचाप सहित कई बीमारियों की जड़ है। इसलिए, उच्च रक्तचाप से छुटकारा पाने के लिए तनाव को नियंत्रित करना महत्वपूर्ण है। अतिरिक्त तनाव से शरीर में वैसोकॉन्स्ट्रिक्शन हार्मोन का विकास होता है। ये हार्मोन रक्त वाहिकाओं को संकुचित करके हृदय गति को बढ़ाकर उच्च रक्तचाप का कारण बन सकते हैं। तनाव को नियंत्रित करके हाई बीपी का इलाज किया जा सकता है। तनाव को नियंत्रित करने और स्वस्थ रहने के लिए ध्यान (मेडिटेशन) सबसे आसान तरीका है। शुरुआत में आप ध्यान सीखने के लिए किसी योग संस्थान की मदद ले सकते हैं।

यह भी पढ़े – प्राकृतिक रूप से हमेशा स्वस्थ रहने के बेहतरीन तरीके

उच्च रक्तचाप को कम करने के लिए अच्छी नींद जरूरी है –

नींद की कमी से भी उच्च रक्तचाप होता है। यदि व्यक्ति ठीक से सोना शुरू कर देता है, तो रक्तचाप खुद नियंत्रित होना शुरू हो जाता है। व्यावहारिक रूप से ऐसा होता है कि अगर हमें अच्छी नींद नहीं आती है, तो हमारे शरीर में रक्त का प्रवाह सही नहीं होता है और पाचन भी प्रभावित होता है, जिसके कारण रक्तचाप बढ़ जाता है। इसलिए उच्च रक्तचाप को नियंत्रित करने के लिए अच्छी नींद बहुत जरूरी है।

इसके अलावा, पढ़ें – अच्छी और आराम की नींद के लिए प्राकृतिक आसान टिप्स

उच्च रक्तचाप को कम करने के लिए भोजन और बदलाव –

lower high blood pressure naturally food home remedies in hindi

हाई ब्लड प्रेशर को कम करने के लिए DASH (Dietary Approaches to Stop Hypertension) आहार का पालन करें। DASH फलों, सब्जियों, कम वसा वाले दूध-आधारित खाद्य पदार्थों और गैर-वसा वाले मांस के उपयोग को प्रोत्साहित करता है। इस आहार के माध्यम से काफी हद तक हाई बीपी को नियंत्रित किया जा सकता है। आहार परिवर्तन के लिए कुछ सुझाव नीचे दिए गए हैं –

उच्च रक्तचाप को कम करने के लिए तला हुआ भोजन न करें: –

यदि आप तैलीय भोजन कर रहे हैं, तो तुरंत छोड़ दें। अपने आहार में पत्तेदार सब्जियां, लौकी, कद्दू, नींबू, पुदीना, ब्रोकोली, और पर्याप्त पोटेशियम और फाइबर युक्त खाद्य पदार्थ शामिल करें। फलों में शकरकंद, केला, स्ट्रॉबेरी, आम, तरबूज और कीवी शामिल कर सकते हैं।

उच्च रक्तचाप को कम करने के लिए साधारण नमक के बजाय सेंधा नमक का उपयोग करें-

उच्च रक्तचाप को नियंत्रित करने में सेंधा नमक बहुत फायदेमंद है। इसके साथ ही यह कोलेस्ट्रॉल कम करने में मदद करता है, जिससे दिल का दौरा पड़ने का खतरा कम होता है। यह आपके शरीर में बढ़े हुए कोलेस्ट्रॉल को कम करने में भी प्रभावी है। यह आपको दिल की बीमारियों से दूर रखता है और दिल के दौरे के खतरे को भी कम करता है और आपको स्वस्थ रखता है। सेंधा नमक तनाव को भी कम करता है। यह सेरोटोनिन और मेलाटोनिन हार्मोन के संतुलन को बनाए रखता है जो तनाव से लड़ने में मदद करते हैं। यह नमक बढ़ते वजन को कम करने में भी सहायक है। रोज सुबह एक गिलास गर्म पानी में सेंधा नमक मिलाकर पिएं। चयापचय में सुधार के साथ, यह पाचन तंत्र को भी सही करता है। बढ़ते चयापचय के कारण, शरीर में वसा धीरे-धीरे पिघलने लगता है।

उच्च रक्तचाप को कम करने के लिए सूखे मेवों का उपयोग करें –

lower high blood pressure naturally food home remedies in hindi

सूखे मेवे शरीर में रक्तचाप के स्तर को प्रबंधित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं। ड्राई फ्रूट्स और नट्स में फाइबर अधिक मात्रा में होता है। ये शरीर के लिए स्वास्थ्य लाभकारी पोषक तत्वों में से एक हैं। मूंगफली, मूंगफली का मक्खन, बादाम और सूखे अंगूर खाएं। इसके अलावा घी, गुड़, शहद और मुरब्बा भी खाया जा सकता है। यह दिल के लिए बहुत फायदेमंद होगा।

रक्तचाप कम करने के लिए डेयरी उत्पाद खाएं: –

द अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन के अध्ययन में कहा गया है कि डेयरी उत्पादों को रोज खाने से उच्च रक्तचाप नहीं होता है। उच्च रक्तचाप की रोकथाम के लिए दही सबसे प्रभावी डेयरी उत्पाद है, लेकिन यदि आप चाहें, तो आप विकल्प के रूप में कम वसा वाले दूध का भी सेवन कर सकते हैं।

दही हाई ब्लड प्रेशर की समस्या को भी कम करता है। इसके अलावा पनीर, वसा रहित या कम वसा वाले डेयरी उत्पादों का सेवन किया जा सकता है।

उच्च रक्तचाप को कम करने के लिए, भोजन में अधिक हरी सब्जियों का उपयोग करें –

अपने आहार में अधिक फल और हरी सब्जियां शामिल करें। इनमें लहसुन, प्याज, साबुत अनाज और सोयाबीन भी शामिल करें। नमक का सेवन कम करें। चाय या कॉफी कम करें।

उच्च रक्तचाप को कम करने के घरेलू उपाय –

  1. ब्लड प्रेशर बढ़ाने में नमक का बहुत बड़ा हाथ होता है। इसलिए, उच्च रक्तचाप को नियंत्रित करने के लिए नमक का उपयोग कम करें।
  2. रक्तचाप को नियंत्रित करने के लिए लहसुन एक बहुत ही उपयोगी घरेलू उपाय है। यह रक्त के थक्के को जमने नहीं देता है और कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रण में रखता है। रोज सुबह खाली पेट एक या दो लहसुन की कलियां ली जा सकती हैं।
  3. एक बड़ा चम्मच आंवले का रस और उतनी ही मात्रा में शहद मिलाकर दिन में दो बार लेने से उच्च रक्तचाप में राहत मिलती है।
  4. उच्च रक्तचाप को नियंत्रित करने के लिए, आधा गिलास गर्म पानी में एक चम्मच काली मिर्च पाउडर घोलें और इसे 2-2 घंटे के अंतराल पर पीएं।
  5. खरबूजे के बीज और खसखस ​​को अलग-अलग पीसकर बराबर मात्रा में मिलाकर रख लें। इसका एक चम्मच रोजाना सुबह लें।
  6. बढ़े हुए रक्तचाप को जल्दी से नियंत्रित करने के लिए, आधे गिलास पानी में आधा नींबू निचोड़कर 2-2 घंटे के अंतराल पर पिएं।
  7. पांच तुलसी के पत्ते और दो नीम के पत्तों को पीसकर 20 ग्राम पानी में घोलकर सुबह खाली पेट पिएं। यह रक्तचाप को नियंत्रित करने के लिए बहुत फायदेमंद है।
  8. उच्च रक्तचाप के रोगियों के लिए पपीता भी बहुत लाभकारी है, इसे रोजाना खाली पेट खाएं।
  9. हरी घास पर नंगे पैर 10-15 मिनट टहलें। ऐसा रोजाना करने से रक्तचाप सामान्य हो जाता है। इससे आँखों की रोशनी भी बढ़ती है।
  10. सौंफ, जीरा और चीनी को बराबर मात्रा में लेकर चूर्ण बना लें। एक चम्मच मिश्रण को एक गिलास पानी में घोलकर सुबह-शाम पिएं।
  11. सुबह-शाम एक गिलास पालक का रस और गाजर का रस पीने से रक्तचाप को नियंत्रित करने में लाभ होगा।
  12. हाई ब्लड प्रेशर के मरीजों के लिए करेला बेहद फायदेमंद होता है। करेले को जूस के रूप में भी इस्तेमाल किया जा सकता है।
  13. राउन चावल का प्रयोग करें। उच्च रक्तचाप के रोगियों के लिए यह बहुत फायदेमंद भोजन है।
  14. प्याज और लहसुन की तरह अदरक भी बहुत फायदेमंद है। वे धमनियों के आसपास की मांसपेशियों को भी आराम देते हैं, जिससे उच्च रक्तचाप कम होता है।
  15. तीन ग्राम मेथी पाउडर को सुबह और शाम पानी के साथ लें। इसे पंद्रह दिनों तक लेना रक्तचाप को नियंत्रित करने में बहुत फायदेमंद है।
  16. उच्च रक्तचाप में अंगूर का रस बहुत उपयोगी है। लाल और काले अंगूर में अधिक मात्रा में एंटी-ऑक्सीडेंट होते हैं, यह रक्त को जमने या थक्के बनने से रोकता है। इसलिए अंगूर खाने से कैंसर, हृदय रोग और उच्च रक्तचाप से बचाव होता है।

निष्कर्ष –

उच्च रक्तचाप एक बहुत ही खतरनाक बीमारी है जिसे पूरी तरह से खत्म नहीं किया जा सकता है लेकिन इसे नियंत्रित किया जा सकता है। उपर्युक्त प्राकृतिक तरीकों और घरेलू उपचारों को जीवनशैली का हिस्सा बनाने से उच्च रक्तचाप के लक्षणों को नियंत्रित करने में काफी हद तक मदद मिल सकती है। उच्च रक्तचाप के उपचार के लिए डॉक्टर दवाओं के साथ जीवनशैली में बदलाव का भी सुझाव देते हैं। इसलिए, उच्च रक्तचाप को नियंत्रित करने के लिए एक अच्छी जीवनशैली अपनाना बहुत ही फायदेमंद होगा।

अगर यह जानकारी आपको अच्छी लगी हो तो कृपया कमेन्ट और शेयर जरूर करें।

Leave a Comment